गोवर्धन पूजा परिवार के सदस्यों का अलग अलग करना अशुभ माना जाता है, इसलिए पूजा साथ बैठ कर करनी चाहिए।

अन्नलूट किसी बंद कमरे में नही बनाना चाहिए।

कहा ये भी जाता है कि, इस दिन चाँद को नही देखना चाहिए।

गाय की पूजा इस दिन बिलकुल नही छोरनी चाहिए।

गंदे कपड़े पहने कर गोवर्धन कि परिक्रमा न करे। 

किसी भी जानवर को नुक़सान न पहुँचाये। 

अभ्रद भाषा या व्यवहार का प्रयोग न करे।

ऐसी हि और जानकारियो के लिए फ़ॉलो करे।